Jadui pencil ki kahani in Hindi

Jadui pencil ki kahani in Hindi | संजू की जादुई पेंसिल

संजू एक बहुत बड़ा शरारती बच्चा था। वह हर समय कुछ ना कुछ गड़बड़ करता ही रहता था। तभी वहां मैडम जी आती हैं और बोलती हैं। सभी बच्चे अपना होमवर्क दिखाओ और उसके बाद मिस्टर संजू के पास आई और मैडम बोलने लगे होंगे रोज की तरह आज भी तुमने होमवर्क नहीं किया होगा तभी संजू कहने लगा मैडम जी मैंने होमवर्क किया था।

Jadui pencil ki kahani in Hindi
Jadui pencil ki kahani in Hindi

वह मैं जब आ रहा था तो रास्ते में मुझे एक कुत्ता मिला जो मेरे किताब को अपने दांतो से खींच लिया और वह उसे लेकर भागने लगा मैंने उसका बहुत पीछा किया पर वह नहीं मिला। तभी मैडम बोली तुम फिर मुझसे झूठ बोल रहे हो। तुम्हारा तो रोज का है ! आज तुम बाहर जाओ और कान पकड़ कर खड़े रहो।

संजू बहुत ही हंसी खुशी से क्लास के बाहर गया और कान पकड़ कर खड़ा हो गया। संजू के टीचर ने उसको सजा दी पर संजू तो खुश था। स्कूल खत्म हुआ संजू हंसते-खेलते अपने दोस्त के साथ घर निकल पड़ा उसने अपने बैग से एक बोतल निकाले और अपने दोस्त को दिखाता है कि यह देखो मेरा कलेक्शन तभी उसका दोस्त कहता है। तुम कीड़े जमाते हो यह बाहर तो नहीं निकलेंगे ना अगर मैं ढक्कन खोल दूं तो कीड़े बाहर निकल जाएंगे तभी उसका दोस्त बोला इन्हें तो वापस कैसे इकट्ठा करते हो।

तभी कहता है कि अपने हाथों से मैं इसे इकट्ठा करता हूं तभी वहां पर एक पैर से कुछ टकराता है। संजू उसकी खुदाई करता है और उसे एक पेंशन मिलती है और उस पेंसिल को लेकर घर निकल पड़ता है उसके बाद संजू जैसे ही अपने घर पहुंचा उसके मां कहने लगे तुम्हारे आने से पहले तुम्हारी शिकायत यहां घर पर आ जाती है।

आज भी तुमने अपना होमवर्क नहीं किया था तभी उसकी मां कहती है। कि जब तक तुम आज होमवर्क नहीं करोगे तो मैं आज खाना नहीं मिलेगा यह बात सुनकर संजू जबरदस्ती अपनी कॉपी को खोलता है और अपने मां से कहता है। मां मेरे पास पेंसिल नहीं है मैं होमवर्क कैसे करूंगा तभी उसकी मां कहती है। दो दिन पहले ही तो तुम्हें पेंसिल लाकर दी थी अब कोई बहाना नहीं चलेगा तभी संजू को अचानक याद आता है कि उसके पास एक पेंसिल है। तभी उस पेंसिल को अपने पैकेट से निकलता है। (Sanju ki Jadui Pencil)

उसकी सफाई करता है। और जैसे ही अपना बुक खुलता है पेंसिल अपने आप होमवर्क करना स्टार्ट कर देती है और यह देखकर संजू की आंखें खुली की खुली रह जाती है और कम समय में होमवर्क पूरा खत्म हो जाता है। और पेंसिल रुक गए अगले दिन संजू अपना होमवर्क लेकर स्कूल गया तभी वहां मैडम बोलती है सभी अपना होमवर्क निकालो और संजू को बोलती है। तुम क्लास के बाहर जाओ तभी वहां पर संजू बोलता है कि मैंने तो आज अपना होमवर्क किया है। Jadui pencil ki kahani 

Jadui pencil
Jadui pencil

वह है कभी मैडम बोलती है। क्या तुमने सच में आज टीचर संजू का होमवर्क देखकर दंग रह गई और उसे शाबाशी भी दे उसके बाद साइंस टीचर आ गए उन्होंने भी बच्चों से होमवर्क मांगा साइंस टीचर होमवर्क देखकर संजू का चौक गया लेकिन उन्हें फिर भी लग रहा था कि दाल में कुछ तो काला है। टीचर ने उससे एक सवाल किया कि अगर तुमने होमवर्क किया है तो बारिश कैसे होती है बताओ यह बात सुनकर संजू डर गया और कहने लगा वह सर मैं भूल गया हूं। और अपने मम्मी से जाकर संजू तुम कह दो कि कल से वह तुम्हें बादाम खिला है। और मुझे पता है कि यह तूने होमवर्क नहीं किया है।

अब संजू थोड़ा डरा हुआ था। और उसके बाद गणित की कक्षा शुरू हुई संजू से कुछ क्वेश्चन पूछती हैं। और संजू उसका सब सही-सही जवाब देता है। तभी उसके बाद वहां की मैडम कहती हैं कि अब इसे ब्लैक बोर्ड पर आकर कॉल करो तभी संजू कहता है। कि मुझे चौक से एलर्जी है मैं बोर्ड पर नहीं लिख सकता तभी मैडम बोली कि ठीक है तुम अपने बुक में ही आकर यहां पर करके दिखा दो। संजू अपने बुक में सवाल करने के लिए बैठ गया पर उसे कुछ समझ में नहीं आ रहा था। (Sanju ki Jadui Pencil)

तभी वहां मैडम बोलिए मुझे मालूम था कि तुम्हें सब नहीं आता है। तुमने किसी और से कराया है और उस दिल्ली बुक पर अपनी मम्मी का कलर हस्ताक्षर ले कर आने का पूरा उत्साह जा चुका था। वह घर पहुंचा और अपने मां को सब कुछ सच-सच बता दिया। और रोने लगा तभी उसकी मां के ही बेटा तुम्हें अपना काम खुद से करना चाहिए तभी उसे एक शौक मिली वह अपना होमवर्क अपने से करने लगा और उसके बाद अगले दिन भी स्कूल गया सारे सवालों का सही सही जवाब दिया। और उस पेंसिल को फिर से वापस जमीन में गाड़ दिया क्योंकि संजू को अब उसका शौक मिल चुका था।

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *